विश्व

बर्थडे पर गूगल का खास तोहफा,मल्लिका-ए-गजल बेगम

बर्थडे पर गूगल का खास तोहफा,मल्लिका-ए-गजल बेगम अख्तर के

मल्लिका-ए-गजल के नाम से पहचानी जाने वाली बेगम अख्तर की 103वीं बर्थ एनिवर्सरी पर गूगल उन्हें याद कर रहा है. इस मौके पर गूगल ने एक खास डूडल तैयार किया है. इस डिजाइनर डूडल में बेगम अख्तर सितार बजाती दिख रही हैं. वहीं कुछ हाथ में फूल लिए नीचे बैठे नजर आ रहे हैं.
सात अक्टूबर 1914 में जन्मीं बेगम अख्तर हिंदुस्तानी क्लासिकल म्यूजिक में दादरा और ठुमरी के लिए जानी जाती थीं. बेगम अख्तर का बचपन से ही संगीत के प्रति एक खास रुझान था. वह प्लेबैक सिंगर बनना चाहती थीं. लेकिन उनका परिवार इस इच्छा के खिलाफ था.
आपको जानकर हैरानी होगी कि अपनी गायिकी के लिए मशहूर बेगम अख्तर को संगीत से पहले नाटकों के जरिए लोकप्रियता मिली. नाटकों के जरिए मिली शोहरत के बाद बेगम अख्तर को कोकाता की ईस्ट इंडिया कंपनी में एक्टिंग करने का मौका मिला.

बेगम अख्तर ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत फिल्म ‘एक दिन का बादशाह’ से की थी. ये फिल्म नहीं चली. इसके कुछ समय बाद वह लखनऊ लौट गईं. यहां उनकी मुलाकात निर्माता-निर्देशक महबूब खान से हुई. बेगम अख्तर के टैलेंट से प्रभावित महबूब खान ने उन्हें मुंबई बुलाया. इस बार जब बेगम मुंबई आईं तो उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा. फिल्म के साथ-साथ वह गायन में भी आगे बढ़ीं.
बेगम अख्तर को कला के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा सन 1968 में पद्म श्री और सन 1975 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था.

About the author

Related Posts

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.